नोएडा में आइकिया आउटलेट शुरू करेगी

Reading Time: 2 minutes
  • सरकार का आइकिया के साथ वर्चुअल एमओयू, सीएम योगी भी रहे मौजूद
  • यूपी में साढ़े पांच हजार करोड़ का निवेश करेगी स्‍वीडिश कंपनी आइकिया
  • 10500 करोड़ रुपये के निवेश से देश में कुल 25 आउटलेट खोलेगी आइकिया

लखनऊ : यूपी में राज्‍य सरकार ने शुक्रवार को फर्नीचर व होम अप्‍लायेंस बनाने वाली दुनिया की सबसे बड़ी कंपनियों में से एक आइकिया के साथ एमओयू साइन किया । नोएडा में आइकिया भारत का अपना सबसे बड़ा आउटलेट शुरू करने जा रही है । स्‍वीडेन की कंपनी यूपी में साढ़े पांच हजार करोड़ रुपये का निवेश करेगी । कंपनी के साथ वर्चुअल एमओयू हस्‍ताक्षर कार्यक्रम में मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ खुद मौजूद रहे ।

कंपनी नोएडा में अपना पहला स्‍टोर शुरू करने जा रही है । इसके लिए आइकिया प्रबंधन ने नोएडा में यूपी सरकार से 850 करोड़ की जमीन खरीदी है । नोएडा में जमीन की बिक्री की स्टांप ड्यूटी से ही यूपी को 60 करोड़ रुपये का राजस्व मिला है। नोएडा में खुल रहे स्टोर से जहां हजारों युवाओं के लिए रोजगार के दरवाजे खुलने जा रहे हैं, वहीं कंपनी की नजर अगले चरण में पूर्वांचल और मध्‍य यूपी के करीब दर्जन भर शहरों पर है । कंपनी की योजना आने वाले दिनों में यूपी के इन शहरों में विस्‍तार की है।

आइकिया के साथ एमओयू हस्‍ताक्षर को यूपी में रोजगार के लिहाज से योगी सरकार की बड़ी सफलता माना जा रहा है। दुनिया के 52 देशों में अपने आउटलेट खोल कर बड़ी संख्‍या में रोजगार और स्‍वरोजगार उपलब्‍ध कराने वाली स्‍वीडन की कंपनी नोएडा के रास्‍ते यूपी में साढ़े पांच हजार करोड़ का निवेश कर प्रत्‍यक्ष और अप्रत्‍यक्ष तौर से करीब 50 हजार लोगों को रोजगार उपलब्‍ध कराने जा रही है । योगी सरकार ने आइकिया को आउटलेट बनाने के लिए नोएडा में 47833 वर्ग मीटर जमीन उपलब्‍ध कराई है ।

बढ़ेंगे रोजगार के अवसर

कंपनी 2025 तक योगी सरकार के साथ तय योजना के मुताबिक अपने सभी आउटलेट शुरू कर देगी । फर्नीचर के साथ होम अप्‍लाएंस और फूड के क्षेत्र में भी उतर चुकी आइकिया के जरिये योगी सरकार यूपी के लोगों को नौकरी के साथ ही बड़ी तादाद में खुद के व्‍यापार का रास्‍ता भी तैयार करने जा रही है । जानकारों के मुताबिक कंपनी अपने उत्‍पादों को आन लाइन बेचने के साथ ही अलग अलग शहरों में फ्रेंचाइजी और शोरूम भी खोलेगी। जिनके जरिये बड़ी संख्‍या में लोगों को व्‍यापार और रोजगार का मौका मिल सकेगा । इसके साथ ही स्‍थानीय स्‍तर पर हुनरमंद और कारीगरों को भी कंपनी के जरिये काम मिल सकेगा।

कंपनी ने दिसंबर 2018 में उत्तर प्रदेश सरकार के साथ नोएडा और राज्य के अन्य शहरों में 5,500 करोड़ रुपये के निवेश का प्रस्‍ताव दिया था। उद्योग मंत्री सतीश महाना के मुताबिक आइकिया को नोएडा में 47,833 वर्ग मीटर जमीन की रजिस्‍ट्री कर दी गई है। आइकिया ने 2016 में हैदराबाद में अपना पहला सेंटर 700 करोड़ रुपये की लागत से शुरू किया था । आइकिया की योजना भारत में 10500 करोड़ रुपये का निवेश कर 2025 तक कुल 25 सेंटर खोलने की है । कंपनी भारत में कुल निवेश का आधे से अधिक हिस्‍सा यूपी में करने जा रही है।

गौरतलब है कि पिछले 4 साल में नोएडा में यह पांचवां बड़ा विश्‍वस्‍तरीय निवेश है। इससे पहले माइक्रोसाफ्ट, सैमसंग,हीरानंदानी समूह का डाटा सेंटर और थैलेस कंपनी बड़ा निवेश कर चुकी हैं, जबकि फिल्‍म सिटी और फिन्‍टेक जैसी बड़ी परियोजनाओं पर काम शुरू हो गया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Releated

(बात बीते कल की) बाबा ने मेरे लिए यह घड़ी…

बाबा ने मेरे लिए यह घड़ी खरीद दी थी लगभग साढ़े तीन दशक पहले. भला तब घड़ी की क्या जरूरत थी! अब मेरे ही पुत्र के उठने का कोई टाइम नहीं है. लेकिन तब एक सुबह उठकर मैं सीढ़ियों पर बैठे ऊंघ रहा था कि पीटीआई योगेन्द्र सिंह किसी काम से आ गए. कुछ खुढ़ुर-बुढ़ुर […]

मीराबाई चानू ने 21 साल का इंतजार खत्म किया, रजत जीत वेटलिफ्टिंग में दिलाया दूसरी बार मेडल

मीराबाई चानू ने ओलंपिक खेलों की भारोत्तोलन स्पर्धा में पदक का भारत का 21 साल का इंतजार खत्म किया और 49 किग्रा स्पर्धा में रजत पदक जीतकर टोक्यो ओलंपिक में भारत का खाता भी खोला। चानू ने क्लीन एवं जर्क में 115 किग्रा और स्नैच में 87 किग्रा से कुल 202 किग्रा वजन उठाकर रजत […]

error: Content is protected !!
Designed and Developed by CodesGesture