नाहक ही 14 साल काटनी पड़ी जेल

Reading Time: < 1 minute
  • बलिया के मुकेश तिवारी का मामला, विशिष्ट बीटीसी में हुआ था चयन

प्रयागराज : बलिया के रहने वाले एक युवक को जेल में नाहक 14 साल काटने पड़े। हाईकोर्ट ने उन्हें अब बाइज़्ज़त बरी कर दिया है। इस पर युवक ने न्यायालय का आभार जताते हुए कहा कि अगर मुझे फर्जी फंसाया न गया होता तो आज एक शिक्षक के रूप में मैं अपनी सेवाएं दे रहा होता।

30 जुलाई, 2007 को बलिया के प्रताप शंकर मिश्र की हत्या हो गई थी। तहरीर के आधार पर इसमें मुकेश तिवारी को भी आरोपी बनाया गया था। इस मामले में सेशन कोर्ट ने मुकेश को 2009 में आजीवन कारावास की सजा सुना दी। तब से ही वह जेल में बंद थे, लेकिन हाईकोर्ट ने इस हत्याकांड की सुनवाई करते हुए मुकेश को पिछले 4 मार्च को बाइज़्ज़त बरी कर दिया। इसके बाद प्रक्रिया पूरी करते हुए वह जेल से अपने घर पहुंचे। जहाँ उनके माता-पिता और पत्नी की आंखें भर आईं। मुकेश तिवारी ने कहा कि विशिष्ट बीटीसी में उनका चयन हो गया था, लेकिन सज़ा हो जाने की वजह से वह शिक्षक नहीं बन सके। मुकेश ने बताया कि उन्हें न्यायालय पर पूरा भरोसा था कि देर ही सही उन्हें न्याय मिलेगा।

यह भी पढ़ें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Releated

यूपी पुलिस की हिरासत में सफाई कर्मी की मौत से गरमाया माहौल, हंगामे के बाद प्रियंका गांधी को आगरा जाने की अनुमति मिली

मृतक के परिवारी जन से मिलने जा रहे प्रियंका गांधी वाड्रा के काफिले को रोककर पुलिस ने उन्हें हिरासत में लिया, हालांकि कुछ देर बाद उन्हें आगरा जाने की अनुमति दे दी गई लखनऊ : उत्‍तर प्रदेश के आगरा में एक सफाईकर्मी को बीते 17 अक्‍टूबर को पुलिस थाने से 25 लाख रुपये की चोरी […]

दैनिक भास्कर और भारत समाचार के खिलाफ आईटी के छापे

विपक्ष ने सरकार पर बोला हमला, कई ने बताया अघोषित आपातकाल, संसद संसद में भी हंगामा नेशनल ब्यूरो, नमस्कार भारत : आयकर विभाग ने कर चोरी के आरोपों में मीडिया समूह दैनिक भास्कर के विभिन्न शहरों में स्थित परिसरों पर बृहस्पतिवार को छापे मारे हैं। दैनिक भास्कर के साथ ही उत्तर प्रदेश के एक प्रमुख […]

error: Content is protected !!
Designed and Developed by CodesGesture