श्रीलंका में बुर्का होगा बैन, कट्टरपंथियों को दो साल हिरासत में रखने का कानून

Reading Time: 2 minutes
  • दो साल पहले ईस्टर के दिन ही चर्चों में हुए थे धमाके

श्रीलंका मैं बुर्का बैन करने की तैयारी है। गृहमंत्री सरथ वीरशेखरा ने कहा कि मुस्लिम महिलाएं पहले बुर्का और हिजाब नहीं पहनतीं थीं, लेकिन अब अधिकांशतः इसी वेशभूषा में नज़र आतीं हैं। इससे जाहिर है कि उनमें धार्मिक कट्टरता बढ़ रही है।

बता दें कि श्रीलंका में सरकार ने आतंकवाद विरोधी कड़ा कानून बनाया है जिसके तहत धार्मिक कट्टरपंथियों को दो साल तक के लिए कैद किया जा सकता है, ताकि उनकी कट्टरता दूर की जा सके।

अब जबकि सरथ वीरशेखरा ने बुर्के के बढ़ते चलन को बढ़ रही कट्टरता बताया है तो यह स्वयं गैरकानूनी हो गया। वहीं, श्रीलंका बुर्का बैन करने के लिए कानून ला रहा है। इसके प्रस्ताव पर वीरशेखरा ने दस्तख़त कर दिए हैं। अब कैबिनेट और संसद की सहमति आवश्यक है, जबकि राजपक्षे सरकार के पास सदन में दो तिहाई बहुमत है। ऐसे में इस कानून के पास होने में कोई अड़चन नहीं है। वहीं, श्रीलंका सरकार 1000 मदरसों को भी बंद करने का फैसला ले रही है।

ठीक दो साल पहले 2019 में ईस्टर के दिन श्रीलंका में चर्चों में धमाके हुए थे, जिनमें जान-माल का बहुत नुकसान हुआ था। इसके बाद से ही श्रीलंकाई सरकार ने 200 मौलानाओं को देश से निकाल दिया था। साथ ही मजहबी उलेमाओं के वीजा नियमों को काफी सख्त कर दिया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Releated

मीराबाई चानू ने 21 साल का इंतजार खत्म किया, रजत जीत वेटलिफ्टिंग में दिलाया दूसरी बार मेडल

मीराबाई चानू ने ओलंपिक खेलों की भारोत्तोलन स्पर्धा में पदक का भारत का 21 साल का इंतजार खत्म किया और 49 किग्रा स्पर्धा में रजत पदक जीतकर टोक्यो ओलंपिक में भारत का खाता भी खोला। चानू ने क्लीन एवं जर्क में 115 किग्रा और स्नैच में 87 किग्रा से कुल 202 किग्रा वजन उठाकर रजत […]

दलाई लामा ने कोरोना वैक्सीन की पहली खुराक ली

धर्मगुरु ने लोगों से भी टीका लगवाने की अपील की, मंत्री गडकरी और नरेंद्र सिंह तोमर को भी पहली खुराक धर्मशाला (हिमाचल प्रदेश) : तिब्बती आध्यात्मिक गुरु दलाई लामा ने शनिवार सुबह यहां एक अस्पताल में कोरोना वायरस से बचाव के लिए टीके की पहली खुराक ली। दलाई लामा के कार्यालय ने आध्यात्मिक गुरु को टीके की पहली खुराक […]

error: Content is protected !!
Designed and Developed by CodesGesture