सियासी एका के तजवीज से पहले यूपी की सियासत में लखनवी तहजीब…चाचा-भतीजा में पहले ‘आप’

Reading Time: 3 minutes
  • परिवर्तन की ‘चाबी’ के साथ सत्ता की सफाई को ‘झाड़ू’ लेकर ‘दिल्ली मॉडल’ की फ्री बिजली से ‘साइकिल’ विजय पथ पर फर्राटा भरने के मूड में है

राज्य ब्यूरो, लखनऊ : यूपी की सियासत इन दिनों लखनवी तहजीब की झांकी पेश कर रही है। बेहद नफासत के साथ चाचा-भतीजा के बीच खिंची तलवारें म्यान में रखी जा रही हैं। रास्ते खुले छोड़कर भी संग चलने से कतराती रही सूबे की सियासत की यह करामाती जोड़ी गठबंधन के नाम पर अब पहले ‘आप’ बोलकर चुनाव में साथ आने के साफ संकेत देने लगी है। परिवर्तन की ‘चाबी’ के साथ सत्ता की सफाई को ‘झाड़ू’ लेकर ‘दिल्ली मॉडल’ की फ्री बिजली से ‘साइकिल’ विजय पथ पर फर्राटा भरने के मूड में है। लेकिन, इस साथ की औपचारिक घोषणा को लेकर अभी पहले आप वाले हालात हैं।

शिवपाल यादव, अखिलेश यादव : फाइल फोटो

हालांकि, शनिवार को बीबीसी के साथ साक्षात्कार में समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने चाचा शिवपाल यादव के लिए उनकी जसवंत नगर विधानसभा सीट छोड़ने की बात एक बार पुनः दोहराते हुए उनकी प्रगतिशील समाजवादी पार्टी, आम आदमी पार्टी सहित छोटे दलों से गठबंधन के संकेत दिए गए। सामने आया कि जीत के बाद दिल्ली की तरह यहां भी फ्री बिजली देने की घोषणा हो सकती है। अखिलेश यादव ने इस गठबंधन के साथ 350 सीटें जीतकर सत्ता में वापसी का भरोसा जताया। कहा- मेरा इस सरकार से एक ही सवाल है कि अभी किसान की आमदनी कितनी है और उनकी आमदनी दोगुनी कब तक कर देंगे। भाजपा वाले गरीब से वोट ले लेते हैं, अमीरों और उद्योगपतियों से नोट ले लेते हैं और सरकारी कंपनियों को बेचकर चोट दे देते हैं।

बड़े दलों का साथ रास ना आया : अखिलेश यादव ने कहा- बड़े दलों के साथ सपा का अनुभव अच्छा नहीं रहा, इसलिए अब वो छोटे दलों को साथ लेकर चुनाव लड़ेगी। अगर छोटे दलों को साथ लूंगा तो उन्हें सीटें कम देनी पड़ेंगी, बड़े दल सीटें ज्यादा मांगते हैं और हारते ज्यादा हैं। छोटे दलों को साथ लाकर बड़ी ताकत बनकर सपा आने वाले समय में 350 सीटें जीतकर आएगी। आम आदमी पार्टी अगर साथ आना चाहेगी तो सीटों और प्रत्याशियों पर विचार करेंगे। चाचा (शिवपाल यादव) की एक पार्टी है, उनसे भी पार्टी बात करेगी। उनकी अपनी जसवंत नगर सीट पर सपा प्रत्याशी नहीं उतारेगी। अखिलेश ने किसानों के लिए फ्री बिजली जैसी योजना लाने का संकेत देते हुए आप साथ आना चाहे तो पार्टी उनके साथ सीटों की संख्या पर विचार करेगी।

ओवैसी से फर्क नहीं : अखिलेश यादव ने दावा किया कि असदुद्दीन ओवैसी की ऑल इंडिया मजलिसे इत्तेहादुल मुस्लिमीन (एआईएमआईएम) के उत्तर प्रदेश में चुनाव लड़ने की योजना से उनके अल्पसंख्यक वोटों पर फर्क नहीं पड़ेगा। भाजपा सरकार को नाकाम बताया। कहा- सरकार ने सपा सरकार में उद्घाटन हो चुके संस्थानों का दोबारा उद्घाटन किया। मुख्यमंत्री ने कोरोना काल में जिन अस्पतालों का दौरा किया वह सपा के शासनकाल में बने। राम जन्मभूमि के नाम पर जमीन खरीद में उठ रहे सवालों पर भाजपा और ट्रस्ट के पदाधिकारियों से जवाब मांगा। बसपा प्रमुख की नाराजगी के सवाल पर कहा कि नाराज तो हमें होना चाहिए कि उनके कारण हमारे घर के लोग लोकसभा चुनाव हार गए और बसपा जीरो से 10 पर पहुंच गई। कांग्रेस पर बोले- आज उत्तर प्रदेश में कांग्रेस के पास अपना कोई ऐसा वोट नहीं है जिसके सहारे वो यहां एक मज़बूत ताक़त के रूप में उभर सके। कई मामलों में कांग्रेस का सिद्धांत भाजपा की तरह है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Releated

आशीष मिश्रा की जमानत अर्जी खारिज

लखनऊ: आरोपी आशीष मिश्रा की जमानत अर्जी पर सुनवाई आज सेशन कोर्ट में आशीष मिश्र समेत लव कुश और आशीष पांडे की भी जमानत अर्जी पर होगी सुनवाई, आज सुबह 11 बजे मामले की सुनवाई होगी, SIT कोर्ट में पूरे प्रपत्र करेगी दाखिल, इससे पहले कोर्ट में कंडोलेंस होने और SIT के पूरे प्रपत्र न […]

तिरंगा यात्रा में जा रहे सांसद संजय सिंह को हिरासत में लेना बयां कर रहा योगी सरकार का डर : महेंद्र प्रताप सिंह

आयोजन स्थल पर पुलिस का भारी पहरा, कई कार्यकर्ता एवं पदाधिकारी किए गए हाउस अरेस्ट वाराणसी : तिरंगा यात्रा में शामिल होने जा रहे आम आदमी पार्टी के राज्यसभा सांसद एवं यूपी प्रभारी संजय सिंह को बाबतपुर एयरपोर्ट रोड से गणेशपुर तरना के समीप पुलिस द्वारा रोक लिया गया है। प्रदेश प्रवक्ता महेंद्र प्रताप सिंह […]

error: Content is protected !!
Designed and Developed by CodesGesture