सदन में गूंजेगा 69000 शिक्षक भर्ती का मुद्दा

Reading Time: 2 minutes
  • राज्यसभा सांसद संजय सिंह ने नोटिस देकर शून्यकाल के दौरान अभ्यर्थियों की आवाज को उठाने के लिए मांगा अवसर

लखनऊ : 69000 सहायक शिक्षक भर्ती का मामला शून्य काल के दौरान संसद में उठा। आम आदमी पार्टी के यूपी प्रभारी, राज्यसभा सांसद संजय सिंह ने नोटिस देकर इस प्रकरण की ओर सदन का ध्यान आकृष्ट कराया। भर्ती मैं आरक्षण के नियमों को ताक पर रखकर कार्य किए जाने का आरोप लगाते हुए पिछड़ा वर्ग ऐसी एसटी को कानूनी रूप से प्राप्त आरक्षण नहीं देने की बात कही।

शून्यकाल के दौरान 69000 शिक्षक भर्ती मामला उठाने के लिए दी गई नोटिस में संजय सिंह की ओर से बताया गया कि उत्तर प्रदेश में एससी, एसटी, पिछड़े वर्ग को प्राप्त संवैधानिक आरक्षण के अधिकार का सरकार हनन कर रही है। 69000 शिक्षकों की भर्ती में एससी एसटी पिछड़े वर्ग को आरक्षण के मुताबिक जगह नहीं दी गई है। इस शिक्षक भर्ती में आरक्षण के कानून का पालन नहीं हुआ है। भारी अनियमितता हुई है। संवैधानिक मूल्यों को ताक पर रखकर कार्य किया गया है। एससी, एसटी, पिछड़े वर्ग के तमाम छात्र अपने अधिकारों की मांग कर रहे हैं। कृपया करके सदन के अंदर मुझे उनकी आवाज को रखने का अवसर प्रदान करिए। उनके संवैधानिक अधिकारों की रक्षा करना इस सदन के हर एक सदस्य की जिम्मेदारी है।

बता दें कि उत्तर प्रदेश में 69000 शिक्षक भर्ती के अभ्यर्थी कई दिनों से आंदोलित हैं। अभ्यर्थियों की प्रमुख मांग है कि राष्ट्रीय पिछड़ा वर्ग आयोग में सभी शिकायतकर्ताओं एवं हाई कोर्ट में सभी याचियों को राहत दी जाए और इनका समायोजन किया जाए। आरोप है कि भर्ती में ओबीसी वर्ग को 27% की जगह मात्र 3.86% का आरक्षण दिया गया है। वहीं, एससी वर्ग को भर्ती में 21% की जगह मात्र 16.6% आरक्षण दिया गया है। इसके अलावा, अभ्यर्थियों का आरोप है कि 29 अप्रैल को राष्ट्रीय पिछड़ा वर्ग आयोग की आरक्षण घोटाले की अंतरिम रिपोर्ट को भी सरकार लागू नहीं कर रही है। इस बात को लेकर अभ्यर्थियों में आक्रोश और नाराजगी है। मंगलवार को इसे लेकर अभ्यर्थियों ने पीएम आवास का घेराव भी किया था। अब उनकी पीड़ा सदन के आगे रखने के लिए संजय सिंह ने पहल की है।

ये आपातकाल है, शुक्रवार को पूरे देश में प्रदर्शन करेगी आप : राज्यसभा सांसद संजय सिंह ने गुरुवार को दैनिक भास्कर अखबार और भारत समाचार चैनल के मालिकों के यहां हुए आयकर छापे पर तीखी प्रतिक्रिया व्यक्त की। उन्होंने कहा कि आम आदमी पार्टी इसके विरोध में शुक्रवार को पूरे देश में प्रदर्शन करेगी। उन्होंने इस कार्रवाई को सरकारी गुंडागर्दी करार देते हुए कहा कि आम आदमी पार्टी इसके खिलाफ आंदोलन करेगी। इस प्रकरण में एक ट्वीट करके संजय सिंह ने कहा कि भाजपा का अंतर है “विनाश काले विपरीत बुद्धि।’ भारत समाचार के प्रमुख वह वरिष्ठ पत्रकार वीरेंद्र सिंह के घर और ऑफिस पर इनकम टैक्स का छापा मारा गया है। यह लोकतंत्र के चौथे स्तंभ पर करारा प्रहार है। यूपी की जनता आदित्यनाथ और बीजेपी दोनों को सबक सिखाएगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Releated

आशीष मिश्रा की जमानत अर्जी खारिज

लखनऊ: आरोपी आशीष मिश्रा की जमानत अर्जी पर सुनवाई आज सेशन कोर्ट में आशीष मिश्र समेत लव कुश और आशीष पांडे की भी जमानत अर्जी पर होगी सुनवाई, आज सुबह 11 बजे मामले की सुनवाई होगी, SIT कोर्ट में पूरे प्रपत्र करेगी दाखिल, इससे पहले कोर्ट में कंडोलेंस होने और SIT के पूरे प्रपत्र न […]

तिरंगा यात्रा में जा रहे सांसद संजय सिंह को हिरासत में लेना बयां कर रहा योगी सरकार का डर : महेंद्र प्रताप सिंह

आयोजन स्थल पर पुलिस का भारी पहरा, कई कार्यकर्ता एवं पदाधिकारी किए गए हाउस अरेस्ट वाराणसी : तिरंगा यात्रा में शामिल होने जा रहे आम आदमी पार्टी के राज्यसभा सांसद एवं यूपी प्रभारी संजय सिंह को बाबतपुर एयरपोर्ट रोड से गणेशपुर तरना के समीप पुलिस द्वारा रोक लिया गया है। प्रदेश प्रवक्ता महेंद्र प्रताप सिंह […]

error: Content is protected !!
Designed and Developed by CodesGesture